सगड़ी विधायक वंदना सिंह ने गांगेपुर मठिया में हो रहे ठोकर निर्माण का किया निरीक्षण, अधिशासी अभियंता को लगाई फटकार।

संवाददाता:-राकेश वर्मा

आज़मगढ़ सगड़ी विधायक वंदना सिंह घाघरा नदी के कटान से हो रहे नुकसान और साढे 18 करोड़ की परियोजना से निर्मित ठोकर का निरीक्षण करने पहुंची। वहां तीन ठोकरो का निर्माण करना था। तीनों ठोकर पर मिट्टी डाली गई थी। घाघरा नदी के कटान की जद में आकर करीब 20 मीटर से अधिक डाली हुई मिट्टी व जमीन कटकर नदी में विलीन हो गई। विधायक वंदना ने बताया कि- हमारे लाख प्रयास के बाद भी गांव और किसानों की जमीन को बचाने के लिए ठोकर बनाने के निर्माण अधूरा रहा। जिसकी पूरी जिम्मेदारी विभाग की है ।

अधिशासी अभियंता की लापरवाही के चलते आज किसान खेती से बीहिन हो रहे हैं उनकी जमीन घाघरा में कटती जा रही है। शासन की मंशा रही कि ठोकर बनाकर घाघरा की कटान को रोका जा सके। पर अधिशासी अभियंता व बाढ़ खंड के लोगों ने बाढ़ आने का इंतजार करते रहे और जब घाघरा में पानी बढ़ गया तो काम शुरू किया। आज स्थिति यह है कि सैकड़ों किसानों की सैकड़ों एकड़ जमीन घाघरा में विलीन हो गई और आज गागेपुर गांव पर भी खतरा मंडरा रहा है। गांगेपुर रिंग बांध के अंदर करीब सवा सौ घर हैं। इसके लिए हमने जिलाधिकारी से बात कर लिया है। विभागीय मंत्री व विभागीय सचिव और मुख्यमंत्री को अवगत कराएंगी। विभाग की लापरवाही के चलते हो रही है कटान। बाढ़ विभाग के लापरवाही के चलते सगड़ी विधानसभा के गागेपुर परासिया देवारा खास राजा अचल नगर के लोग खेती विहीन हो रहे हैं और उनके घरों पर भी संकट छा गया है। अधिशासी अभियंता दिलीप कुमार ने कहा कि हम किसी भी हालत में बंधा नहीं कटने देंगे। कटान की जिम्मेदारी किसकी है हमें नहीं मालूम। इसका कोई जिम्मेदार नहीं है । रिंग बांध को बचाने के लिए अब साढ़े 18 करोड़ परियोजना पर तो काम खत्म हो गया। अब बंबू क्रेट बनाकर रिंग बांध को रोकने का बाढ़ खंड प्रयास कर रहा। घाघरा की तेज कटान को लेकर ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Previous post आजमगढ़ किसी के जन्म का समय और स्थान तय नहीं होता,मंडलीय जिला अस्पताल के बाथरूम में गूँजी किलकारी।
Next post डीडीयू-आरपीएफ ने चलाया जागरूकता अभियान।