किराना व्यापारी हत्याकांड में पत्नी ने जेठ और उनके बेटों पर दर्ज कराया मुकदमा

संवाददाता कमलेश गुप्ता


रोहनिया थाना क्षेत्र के मोहनसराय स्थित करनाडाड़ी के पास किराना व्यापारी राजेश जायसवाल की गोली मारकर हुई हत्या के मामले में व्यापारी की पत्नी साधना ने अपने जेठ विजय जायसवाल व उसके बेटों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। यह हत्या जमीन सम्बन्धी विवाद को लेकर की गई है। जमीन के विवाद में दोनों पक्षों में झगड़ा होता था।


मिर्जमुराद के तमाचाबाद कछवां रोड के रहनेवाले राजेश जायसवाल की सास बीमार हैं जो भदवर स्थित मेडिकल कालेज अस्पताल में भर्ती हैं। राजेश घर से रोज खाना लेकर अस्पताल जाते थे। करनाडाड़ी पुल के पास बाइक सवारों ने राजेश को ओवरटेक करके रोकने के बाद सीने में ताबड़तोड़ गोलियां चलानी शुरू कर दी। मौके पर ही गिरकर राजेश की मौत हो गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मौके से .32 के चार खाली खोखे भी बरामद हुए हैं। आसपास के लोगों ने बताया कि पांच फायर की आवाज सुने लेकिन बदमाशों की पहचान नहीं हो पाई।


घटना की सूचना के बाद मौके पर ग्रामीण पुलिस अधीक्षक अमित वर्मा , एडिशनल एसपी नीरज पांडेय सहित आसपास के थानों की फोर्स भी पहुंच गई। मौत की सूचना पर राजेश के परिवार और रिश्तेदार भी मौके पर पहुंच गए। पुलिस अधिकारियों ने परिवार से रंजिश के बारे में भी बात की। पुलिस घटना के कारण और आसपास के सीसीटीवी की तलाश में लगी है। राजेश दो भाइयों में छोटे थे तथा एक बेटा और एक बेटी भी है। मौत की सूचना के बाद परिवार में कोहराम मच गया।


बेटे और पत्नी ने मना किया लेकिन मौत खींच ले गई राजेश को : घटना की सूचना मिलते ही राजेश के घर मे कोहराम मच गया। घटनास्थल पहुंचे राजेश के बेटे करन ने बताया कि पापा को हमलोग आज मना कर रहे थे कि खाना लेकर हम मम्मी के साथ चले जायेंगे और नानी से मिलवा भी देंगे। लेकिन, वो बोले कि तुमलोग कल दिन में जाकर मिल लेना, बताते हुए फफककर रो पड़ा। राजेश की पत्नी रो रो कर बेसुध हो गई। बेटा करन अपने पिता के साथ किराना और आटाचक्की का काम देखता है।


सीसीटीवी और सर्विलांस की मदद से करेंगे जांच

घटनास्थल पर पहुंचे ग्रामीण पुलिस अधीक्षक अमित वर्मा ने कहा कि फोरेंसिक टीम ने मौके पर जांच किया है। बताया कि रात होने के कारण आसपास की फैक्ट्री और गोदाम बंद थे। कुछ जगहों पर सीसीटीवी लगा है जिसकी शुक्रवार को जांच की जाएगी। सर्विलांस की मदद और परिवार के लोगों से जानकारी के बाद घटना का कारण स्पष्ट हो पायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Previous post स्कूलों के कायाकल्प में पुरातन छात्र दे सहयोग–बीएसए।
Next post डीडीयू नगर पालिका कई वार्डो में विकास के नाम पर सिर्फ खानापूर्ति।