पूर्वांचल के होटल उद्योग को सुविधाजनक बनाने का होगा अनूठा प्रयास

Advertisement
Advertisement

वाराणसी होटलिएर्स एसोसिएशन की दो दिवसीय बायर-सेलर मीट 6 अप्रैल से

वाराणसी/संसद वाणी

वैसे तो वाराणसी की संस्कृति, विभिन्न धरोहरों व पर्यटक स्थलों के प्रति देश ही नहीं विश्व के पर्यटक आकर्षित होते रहे हैं और उनका आगमन होता रहता है। यह प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र होने और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के विशेष प्रयास के प्रतिफल वाराणसी और आसपास सहित पूरे पूर्वांचल में नए पर्यटन स्थल विकसित हुए हैं। इससे उम्मीद है कि इस क्षेत्र में पर्यटकों की संख्या तेजी से बढ़ेगी। साथ ही होटलों की मांग भी तेजी आएगी।
इसे मद्देनजर वाराणसी होटलिएर्स एसोसिएशन द्वारा पूर्वांचल में होटल उद्योग से सम्बंधित वेंडर्स और होटल व्यवसायी को एक प्लेटफॉर्म प्रदान करने के लिए 6 अप्रैल 2022 से दो दिवसीय बायर-सेलर मीट का आयोजन किया जा रहा है। यह अपने तरह का अनूठा प्रयास है। इससे पूर्वांचल के होटल उद्योग को बढ़ावा मिलेगा।
वाराणसी होटलिएर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष एहसान रउफ खान, उपाध्यक्ष व आयोजन समिति के प्रमुख गौरव जायसवाल,सचिव सीए विजय प्रकाश,संयुक्त सचिव तुषार मौर्या व आयोजन समिति के अमन मेहरा ने मंगलवार को भेलूपुर स्थित होटल डायमंड में पत्रकारों को उक्त जानकारी दी। उन्होंने बताया कि बायर सेलर मीट का उद्घाटन 6 अप्रैल को पूर्वाह्न 11 बजे कैंटूमेन्ट स्थित होटल सूर्या के कैसर पैलेस में होगा जिसका उद्घाटन वाराणसी के मण्डलायुक्त श्री दीपक अग्रवाल करेंगे। कार्यक्रम के दूसरे दिन शाम 5 बजे बायर-सेलर मीट का समापन होगा। उन्होंने कहा कि इस तरह के कार्यक्रम से होटल संचालकों को जानकारी मिल सकेगी कि होटल से सम्बंधित जो सामान बाहर से मंगाने की जहमत उठाते हैं उससे छुटकारा मिलेगा क्योंकि सारे सामान यहीं मिल जाएंगे। उन्होंने बताया कि सेलर जो होटलों को सामान की आपूर्ति करते हैं और बायर जो सामान खरीदते हैं, इनके बीच संवाद होने के लिए यह मीट अद्वितीय प्लेटफार्म प्रदान करती है। क्रेता-विक्रेता मीट (बीएसएम) का उद्देश्य व्यापार संबंधों को बढ़ाना,सोर्सिंग आवश्यकताओं को समझना और खरीदारों ,आपूर्तिकर्ताओं के बीच व्यावसायिक संबंध प्रदान करना है। यह न केवल व्यापार के लिए नए रास्ते खोलतें हैं, उन्हें सीखने का अवसर, लोगों के साथ अन्वेषण, नवाचार और नेटवर्क भी प्रदान करते हैं।
उन्होंने बताया कि कार्यक्रम में 66 सेलर और 500 होटल संचालक भागीदारी कर रहे हैं। पूर्वांचल के साथ ही दिल्ली, लखनऊ, कानपुर, वाराणसी आदि के व्यवसायी भाग ले रहे हैं। दो दिवसीय कार्यक्रम में 66 स्टाल भी लगेंगे जिसके माध्यम से सेलर अपने उत्पादों का प्रदर्शन करेंगे। उनकों पुरस्कृत भी किया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस मीट में पैकिंग सामग्री, किराना और जल्द खराब होने वाली वस्तुएं, बिजली के सामान, सेनेटरी वेयर, कटलरी, क्रॉकरी और कांच के बने पदार्थ, हाउसकीपिंग उत्पाद और उपकरण, इंटीरियर डिजाइनर, पेंट और पोलिश, लिनन, वर्दी और जूते, सौर प्रणाली अनुप्रयोग, सीसीटीवी और अग्निशमन प्रणाली, कीट नियंत्रण सेवाएं, चाय/कॉफी वेंडिंग मशीन, फर्निशिंग हाउस, रसायन (रसोई और कपड़े धोने) आदि उत्पादों का प्रदर्शन होगा। इस कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश होटल एन्ड रेस्टोरेंट एसोसिएशन, होटल एन्ड रेस्टोरेंट एसोसिएशन ऑफ नार्थ इंडिया, दी फेडरेशन ऑफ होटल एन्ड रेस्टोरेंट एसोसिएशन ऑफ इंडिया की भागीदारी होगी।
उन्होंने बताया कि वाराणसी होटलियर्स एसोसिएशन पहला एसोसिएशन है, जिसमें 74 होटल शामिल हैं और जिनके पास वाराणसी शहर के 3000 से अधिक होटल कमरे हैं। फिर भी वाराणसी में अभी और होटल की जरूरत है क्योंकि यहां पर्यटक बढ़ रहे हैं।
उन्होंने बताया कि बायर सेलर मीट के माध्यम से वाराणसी होटलियर्स एसोसिएशन के संस्थापक स्वर्गीय श्री लल्लाराम मौर्य जी को श्रद्धांजलि भी अर्पित की जाएगी जिन्होंने 2021 में पहलीबार बायर सेलर मीट का आयोजन किया था।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Previous post युवक ने फांसी लगाकर कर ली खुदकुशी, सामने आई आत्महत्या की वजह
Next post अमेठी प्रेस क्लब ने राज्यपाल को संबोधित तीन सूत्रीय ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपा।