योगी के बुल्डोजर को ठेंगा दिखाते हुए प्राचार्य का बेटा आनंद उर्फ सोनू राय ने ठेके पर नकल ली गारंटी।

Advertisement
Advertisement

संसद वाणी/गाजीपुर।

यूपी बोर्ड के सैदपुर क्षेत्र स्थित केदारनाथ इंटर कालेज धुवार्जुन परीक्षा केंद्र पर अन्यत्र कॉपी लिखवाने के लिए प्रति छात्र 25 हजार रुपये का ठेका लेने का मामला आते ही शिक्षा माफियाओं में हड़कंप मच गया। गुरुवार की शाम एटीएफ की कार्रवाई में पकड़े गए सहायक केंद्र व्यवस्थापक व प्रधानाचार्य रवींद्र राय ने यह बात कबूली। उनके साथ ही स्कूल का शिक्षक अशोक पटेल, सोनभद्र के पन्नूगंज थाने के गौरवा का परीक्षार्थी पीयूष कुमार और तीन साल्वर कोलवर का रजनीश कुमार कुशवाहा, विशुनपुरा निवासी शैलेंद्र यादव व रवि यादव भी गिरफ्त में लिए गए थे। इन्हें कानूनी कार्रवाई पूरी कर जेल भेज दिया गया।

दूसरी पाली में इंटर भौतिक विज्ञान की परीक्षा थी। प्रधानाचार्य का बेटा आनंद उर्फ सोनू राय स्कूल के शिक्षक अशोक पटेल से प्रश्नपत्र की फोटो व्हाट्सअप पर विशुनपुरा पंचायत भवन पर मंगवा लिया। जहां मौजूद सॉल्वर पहले से ही बोर्ड की कॉपी लेकर तैयार थे। व्हाट्सअप पर प्रश्नपत्र की फोटो आते ही कॉपी लिखना शुरू कर दिए थे।

उसी बीच खुफिया सूचना पर एसटीएफ की वाराणसी यूनिट की टीम इंस्पेक्टर पुनीत सिंह परिहार की अगुवाई में परीक्षा केंद्र पर पहुंची और प्रधानाचार्य रवींद्रनाथ राय तथा उसके बेटे सोनू राय को लेकर विशुनपुर पंचायत भवन पर छापा मारी। हालांकि एटीएफ टीम की आहट मिलने पर सॉल्वरों ने अंदर कॉपी फाड़कर शौचालय में फेंक दिया और पानी डाल कर सबूत मिटाने की भरसक कोशिश की। उस दौरान प्रधानाचार्य का बेटा आनंद उर्फ सोनू राय भाग निकला।

इस मामले में सैदपुर कोतवाली में कुल आठ लोगों के विरुद्ध मामला दर्ज हुआ। उनमें विशुनपुर की प्रधान का पति संतोष यादव भी शामिल है। सोनू राय समेत उसकी भी तलाश की जा रही है। नकल के इस खेल में सोनू राय ही मास्टर माइंड बताया जा रहा है।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Previous post बाल श्रमिक विद्या योजना के तहत बालक को एक हजार व बालिका को मिलेंगे 12 सौ रूपये प्रतिमाह सहायता
Next post देवानन्दपुर में बच्चो ने स्कूल चलो अभियान के लिए की रैली।