ABVP के कार्यकर्ताओं ने भूख हड़ताल की, जाने क्या है कारण

Advertisement
Advertisement
  • सेंट्रल हिन्दू स्कूल, बीएचयू में कक्षा 6 और 9 के इंट्रेंस एग्जाम को स्थगित कर लाटरी सिस्टम से प्रवेश करने के बीएचयू के फैसले के विरुद्ध लगातार विरोध-प्रदर्शन हो रहे हैं।


वाराणसी। इसी क्रम में शनिवार को बीएचयू सेन्ट्रल ऑफिस पर ABVP के कार्यकर्ताओं ने भूख हड़ताल की और इस सिस्टम को वापस लेने के साथ ही साथ इंट्रेंस एग्जाम करवाने की मांग की। शनिवार के 6 कार्यकर्ता भूख हड़ताल पर बैठे हैं। भूख हड़ताल के दौरान बात करते हुए अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के इकाई अध्यक्ष अभय प्रताप ने कहा कि वर्षों से सेंट्रल हिन्दू स्कूल में प्रवेश प्रक्रिया प्रवेश परीक्षा के माध्यम से होती थी। पिछले दो वर्षों से कोरोना की परिस्थितियों के कारण यह लॉटरी एवं मेरिट आधारित प्रवेश हो रहा था। परन्तु इस वर्ष स्थिति सामान्य होने और पाबंदियों के हट जाने के बावजूद काशी हिन्दू विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा स्कूल में प्रवेश लॉटरी एवं मेरिट के माध्यम से कराने का निर्णय लिया गया है, जो पूर्ण रूप से विद्यार्थियों की प्रतिभा के विरुद्ध है।

उन्होंने आगे कहा कि विगत तीन सप्ताह से अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद विश्वविद्यालय प्रशासन के इस निर्णय का विरोध कर रही है। परन्तु विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा कोई भी सकारात्मक पहल नहीं की जा रही है । सेंट्रल हिन्दू स्कूल में पढ़ने के इछुक ग्रामीण क्षेत्रों के प्रतिभावान छात्र अपना हक माँग रहे हैं। परन्तु विश्वविद्यालय प्रशासन उनकी आवाज़ को नहीं सुन रहा। इसी कारण आज भीषण गर्मी में भी भूख हड़ताल पर रह कर विश्वविद्यालय प्रशासन तक हमें अपना विरोध दर्ज कराना पड़ रहा है। सीएचएस में प्रवेश परीक्षा बहाल करने हेतु आंदोलन निरंतर चलता रहेगा एवं अगर जल्द मांगे पूरी नहीं होती हैं तो छात्रहित में आंदोलन को अनिश्चितकालीन बनाया जाएगा।


भूख हड़ताल के दौरान राष्ट्रीय मंत्री साक्षी सिंह ने कहा किविश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा एक तरफा निर्णय ले कर हज़ारों विद्यार्थियों के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। बड़ी संख्या में ग्रामीण क्षेत्र के विद्यार्थी परीक्षा की तैयारी करते हैं। मेरिट एवं लॉटरी आधारित प्रवेश प्रतिभावान विद्यार्थियों की प्रतिभा की हत्या के समान है। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद विश्वविद्यालय प्रशासन के इस निर्णय का अंतिम दम तक विरोध करेगी।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Previous post वाराणसी कमिश्नरेट: पुलिसकर्मी ने खुद को मारी गोली, हालत गंभीर,परिजनों से मिले पुलिस कमिश्नर।
Next post विश्वनाथ मंदिर की सुरक्षा को लेकर प्लान माँगा गया।