वाराणसी कमिश्नरेट: पुलिसकर्मी ने खुद को मारी गोली, हालत गंभीर,परिजनों से मिले पुलिस कमिश्नर।

Advertisement
Advertisement

वाराणसी/संसद वाणी संवाददाता

लालपुर-पांडेयपुर थाने पर तैनात सरकारी जीप के ड्राइवर ने जीप में ही खुद को अपनी सरकारी रिवाल्वर से बीती रात नाइट ड्यूटी के बाद गोली मार ली। जसवंत सिंह कल ही छुट्टी से वापस लौटे थे। फिलहाल उस समय उनके साथ ड्यूटी पर मौजूद सहकर्मियों ने उन्हें ट्रामा सेंटर पहुंचाया जहां उनकी स्थिति गंभीर बनी हुई है। डॉक्टरों के अनुसार गोली लगने से जसवंत के सिर का एक हिस्सा उड़ गया है। फिलहाल पुलिस जसवंत द्वारा आत्महत्या करने के प्रयास की जांच में जुटी हुई है। आत्महत्या के प्रयास के पहले जसवंत ने कई व्हाट्सप्प मैसेज किये हैं जिसमे उन्होंने अपने बेटे को सुसाइड नोट लिखकर भेजा है जिसमे छुट्टी न मिलने और बेटे की बिमारी से परेशान रहने का भी जिक्र है। फिलहाल घटना की सूचना के बाद जसवंत सिंह के परिजन वाराणसी पहुँच चुके हैं।
प्राप्त जानकारी के अनुसार आजमगढ़ जिले के मेहनगर थाना के पवनी खुर्द गांव के मूल निवासी जसवंत सिंह (52) बीती 15 अप्रैल को छुट्‌टी लेकर अपने घर गए थे।। कल ही अपने मूल निवास से लौट थे और ड्यूटी ज्वाइन की थी। जसवंत यहां पुलिस लाइन स्थित सरकारी आवास में रहते थे। नाइट ड्युटी के बाद वह पहड़िया मंडी में स्थित धर्म कांटा के समीप पहुँचे और नाइट अफसर सूर्यवंश यादव के द्वारा चाय पीने की बात को इंकार करते हुए सरकारी वाहन में रुक गए। सभी के जाने के बाद ड्राइविंग सीट पर बैठकर अपनी लाइसेंसी रिवाल्वर से खुद को गोली मार ली।गोली की आवाज पर जब पुलिसकर्मी वाहन की तरफ दौड़े तो जसवंत जख्मी हालत में गाड़ी में खून से लथपथ पड़े थे। उन्हे फौरन सहकर्मियों ने ट्रामा सेंटर पहुंचाया जहां उनकी स्थिति नाजुक बनी हुई है। वही ट्रामा सेंटर बीएचयू में परिजनों से पुलिस कमिश्नर ए. सतीश गणेश मिले।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Previous post एसपी ग्रामीण ने समाधान दिवस के अवसर पर थाना जन्सा व कपसेठी पर जन समस्याओं को सुनकर किया निस्तारण
Next post ABVP के कार्यकर्ताओं ने भूख हड़ताल की, जाने क्या है कारण