भष्ट्राचार सहित जिलाधिकारी के आदेश के अवहेलना मामले में राजातालाब के तीन लेखपाल को एसडीएम ने किया निलंबित मचा हड़कम्प

Advertisement
Advertisement

निलंबित होने की खबर लगते ही लेखपाल संघ ने आहूत की आकस्मिक बैठक,एसडीएम से हुई वार्तालाप जल्द जारी होगा आरोप पत्र

रोहनिया/संसद वाणी

तहसील राजातालाब के तीन लेखपाल को भष्ट्राचार सहित जिलाधिकारी के आदेश के अवहेलना मामले में एसडीएम राजातालाब ने शनिवार को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर विभागीय कार्यवाही के लिए जिलाधिकारी को रिपोर्ट भेज दिया।प्राप्त जानकारी के मुताबिक घरौनी में नाम दर्ज करने के नाम पर रघुनाथपुर कपसेठी के लेखपाल कृष्ण मुरारी लाल श्रीवास्तव द्वारा हाजी सय्यद अली से दस हजार की माँग की गयी थी जिसके बाद दो हजार रुपया देते समय फोटो और ऑडियो इंटरनेट मीडिया पर जमकर वायरल हुआ था तो वही सजोई के महिला लेखपाल करुणा कनौजिया द्वारा पीड़ित सविता गिरि से दस हजार की माँग करने का ऑडियो भी वायरल हुआ था जिसके बाबत शुक्रवार को सविता गिरि ऑडियो क्लिप के साथ शिकायती पत्र देकर एसडीएम राजातालाब से लेखपाल के खिलाफ कार्यवाही की माँग की थी।दूसरी तरफ शिकायतकर्ता अधिवक्ता शोभनाथ राय द्वारा सरकारी तालाब पर कब्जा से संबंधित शिकायती पत्र जिलाधिकारी को देकर कब्जा मुक्त कराने की मांग किया था जिस पर जिलाधिकारी ने तत्काल सरकारी भूमि से कब्जा हटाने का आदेश निर्देश संबंधित लेखपाल को जारी किया था के बावजूद बीरभानपुर के लेखपाल संजय वर्मा द्वारा उक्त आदेश निर्देश का पालन नहीं किया गया जिसकी शिकायत पीड़ित ने जिलाधिकारी से पुन: की थी।उक्त प्रकरण का स्वत: संज्ञान जिलाधिकारी वाराणसी कौशल राज शर्मा ने लिया और एसडीएम राजातालाब को जाँच कर कार्यवाही का आदेश दिया था जिसके फलस्वरूप नायब तहसीलदार सेवापुरी सुलखा वर्मा ने तीनों लेखपाल के ऊपर लगाए गए आरोप का जाँच किया जिसमें साक्ष्य प्रमाण के आधार पर जाँच रिपोर्ट एसडीएम राजातालाब को सौंपी गयी।जांच रिपोर्ट देखने के बाद एसडीएम ने तत्काल प्रभाव से तीनों लेखपाल को निलंबित कर विभागीय कार्यवाही के लिए जिलाधिकारी को रिपोर्ट भेज दिया।ज्ञात हो कि निलंबित लेखपाल कृष्ण मुरारी लाल श्रीवास्तव लेखपाल संघ के महामंत्री बताए गए।लेखपाल के निलंबित होने की जानकारी मिलते ही तहसील राजातालाब इकाई लेखपाल संघ की ओर से शनिवार को आकस्मिक बैठक आहूत की गई जिसमें जिलाध्यक्ष के प्रत्याशी राम बहाल सिंह उर्फ राम बहाल सिंह मौर्य बहाल कवि द्वारा उप जिलाधिकारी को भरी सभा में कहा गया कि बगैर लेखपाल की जांच आख्या स्पष्ट के बिना किसी के दबाव में आकर निलंबित किया जाना उचित नहीं है तथा सरकारी कार्यों के अलावा पेंडेंसी पर सख्त कार्यवाही के अलावा लेखपाल संवर्गीय पेंडेंसी जिसमें वेतन एरियर बोनस जो 31 मार्च के बाद भी प्राप्त नहीं हुआ है इसके लिए कौन दोषी है इसकी भी जांच किया जाए एटीएम राजातालाब द्वारा यथाशीघ्र निलंबित लेखपाल को आरोप पत्र जारी कर नियमानुसार कार्यवाही निस्तारण किए जाने का आश्वासन दिया।वही इस बाबत एसडीएम राजातालाब उदयभान सिंह का कहना रहा कि जांच आख्या के आधार पर भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम तथा कर्मचारी आचरण नियमावली के तहत कार्यवाही की गयी है।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Previous post बढ़ते महंगाई के खिलाफ भाकपा का तहसील पर एक दिवसीय विरोध प्रदर्शन, राष्ट्रपति से सम्बोधित ज्ञापन नायब तहसीलदार को सौंपा
Next post कोर्ट के आदेश पर एक वर्ष बाद दर्ज हुआ मुकदमा