मनराजपुर कांड को लेकर राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने पूरे प्रकरण जांच करने की मांग की है, बढ़ सकती है पुलिसकर्मियों की मुसीबत

Advertisement
Advertisement

संवाददाता:-रन्धा सिंह

चंदौली/संसद वाणी

सैयदराजा थाना के मनराजपुर में पुलिस रेड के दौरान युवती की मौत का प्रकरण अब राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग तक पहुंच चुका है। और पूरे प्रकरण की आयोग ने शिकायतकर्ता की सूचना पर इसे संज्ञान लिया है। वहीं एसपी अंकुर अग्रवाल के निर्देश पर एएसपी भी अपने स्तर से घटना की जांच कर रहे हैं। ऐसे में घटना के लिए जिम्मेदार पुलिसकर्मियों की मुसीबत बढ़ सकती है।मनराजपुर में गैंगस्टर को पकड़ने के लिए दबिश के दौरान पुलिस पर परिजनों के साथ मारपीट का आरोप लगा। इसी दौरान आरोपित की पुत्री की मौत हो गई। वहीं छोटी बेटी ने नस काट ली। बेटी को न्याय दिलाने के लिए पिता ने अन्न-जल त्याग कर आमरण अनशन शुरू कर दिया है। मामला मानवाधिकार आयोग तक पहुंच चुका है। इसमें तत्कालीन सैयदराजा कोतवाल उदय प्रताप सिंह, पुलिसकर्मी शमशेर सिंह समेत अन्य पुलिसकर्मियों की ओर से युवती की पिटाई से मौत दर्शाई गई है। आयोग की ओर से शिकायतकर्ता को इसके बाबत सूचित भी किया गया है। माना जा रहा कि आयोग अपने स्तर से भी प्रकरण की जांच करा सकता है। ऐसे में दोषी पुलिसकर्मियों की मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Previous post धूम्रपान और प्रदूषण से बढ़ रहे अस्थमा के मरीज: डा0 संजय सिंह
Next post राज्यमंत्री दयाशंकर मिश्र का सिगरा में खुला जनसंपर्क कार्यालय, पहले दिन सुनी 50 लोगों की फरियाद