रोहनिया विधायक ने किया सीएचसी आराजीलाइन ब्लॉक स्वास्थ्य मेला का शुभारंभ

Advertisement
Advertisement

सरकार की प्राथमिकता – ग्रामीण क्षेत्र में स्वास्थ्य, शिक्षा, स्वच्छता व पोषण के क्षेत्र में हो बेहतर सुधार

स्वास्थ्य मेला में 500 से अधिक लोगों को मिला चिकित्सीय व स्वास्थ्य लाभ

सीफार के सहयोग से संचारी रोग नियंत्रण व आयुष्मान भारत योजना पर किया जन जागरूक नुक्कड़ नाटक

वाराणसी/संसद वाणी

‘आजादी का अमृत महोत्सव’ के उपलक्ष्य में सोमवार को आराजीलाइन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सीएचसी) पर विशेष स्वास्थ्य मेला का आयोजन किया गया, जिसका शुभारंभ रोहनिया विधायक डॉ सुनील पटेल ने फीता काटकर किया। तत्पश्चात दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम को आगे बढ़ाया। इस दौरान सेंटर फॉर एडवोकेसी एंड रिसर्च (सीफार) के सहयोग से संचारी रोग नियंत्रण व आयुष्मान भारत योजना पर जन जागरूकता नुक्कड़ नाटक का कार्यक्रम किया गया। इसके साथ ही भिखारीपुर स्थित कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय की ओर से बालिकाओं ने सरस्वती वंदना, शिव तांडव व स्कूल चलो अभियान को लेकर संगीत व नृत्य का प्रदर्शन किया।
विधायक डॉ सुनील पटेल, ब्लॉक प्रमुख डॉ महेंद्र सिंह पटेल, जिला विकास अधिकारी राजेश यादव, खंड विकास अधिकारी विजय कुमार जयसवाल, जिला अध्यक्ष डॉ नरेंद्र पटेल, एसीएमओ डॉ एके मौर्य, एमओआईसी डॉ नवीन सिंह ने स्वास्थ्य मेला में लगे विभिन्न स्टालों का जायजा लिया। आईसीडीएस विभाग द्वारा लगाए गए स्टॉल का जायजा लिया और छह माह पूर्ण कर चुके दो बच्चों का अन्नप्राशन कराया व पाँच गर्भवती की गोदभराई करते हुये पोषण टोकरी वितरित की। इसके साथ ही शिक्षा विभाग, आयुष विभाग, पंचायती राज विभाग द्वारा लगाए गए स्टालों के जरिये योजनाओं की भी जानकारी ली।इसके साथ ही दिव्यांग कल्याण विभाग की ओर से दिव्यांग बच्चे अभिषेक को कान की मशीन भेंट की।
इस मौके पर विधायक डॉ सुनील पटेल ने ब्लॉक स्वास्थ्य मेला की टैगलाइन “स्वास्थ्य निश्चित, प्रगति सुनिश्चित” पर विशेष ज़ोर दिया। उन्होने कहा कि शासन की मंशा के अनुरूप आयोजित किए गए स्वास्थ्य मेला का लाभ समस्त ग्रामीण वासियों को लाभ मिलना चाहिए। सरकार की प्राथमिकता है कि ग्रामीण क्षेत्र में स्वास्थ्य, शिक्षा, स्वच्छता व पोषण के क्षेत्र में बेहतर सुधार हो, इसी उद्देश्य से प्रत्येक स्तर पर प्रयास किया जा रहा है। ब्लॉक प्रमुख डॉ महेंद्र सिंह पटेल ने कहा कि ग्रामीणवासियों को सरकार की सभी योजनाओं का लाभ मिल सके, इसके लिए समय-समय पर शासन की ओर से कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। इस मौके पर एसीएमओ डॉ एके मौर्य ने कहा कि इस विशेष स्वास्थ्य मेला का उद्देश्य ग्रामीणवासियों को एक ही छत के नीचे विभिन्न विभागों की समस्त योजनोओं व कार्यक्रमों के बारे में जानकारी पहुंचाना, स्वास्थ्य जांच, उपचार व परामर्श देना, तथा उनका प्रचार-प्रसार करना है।
इस स्वास्थ्य मेले में कुल 563 लोगों ने पंजीकरण कराया। इस दौरान 389 व्यक्तियों की जांच व उपचार किया गया। 27 लोगों को आयुष्मान कार्ड जारी किए गए। कुल 10 विभागों की सहभागिता से ब्लाक स्वास्थ्य मेला सकुशल सम्पन्न हुआ। एनएचएम के जिला कार्यक्रम प्रबन्धक संतोष सिंह ने सभी को धन्यवाद ज्ञापित करते हुये कार्यक्रम का समापन किया। स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी मनोज कुमार ने मंच संचालन किया। इस दौरान क्षेत्रीय आयुर्वेदिक व यूनानी अधिकारी डॉ भावना द्विवेदी, जिला दिव्यांगजन सशक्तिकरण अधिकारी राजेश कुमार मिश्रा, एसीएमओ डॉ राजेश प्रसाद, चिकित्साधिकारी डॉ अतुल सिंह, जिला स्वास्थ्य शिक्षा व सूचना अधिकारी हरिवंश यादव, खंड शिक्षा अधिकारी, चिकित्सक, अन्य विभागीय अधिकारी, एएनएम, आशा-आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व अन्य लोग मौजूद रहे।

इन विभागों के लगे स्टॉल – स्वास्थ्य विभाग, खाद्य सुरक्षा विभाग, युवा कार्यक्रम एवं खेल विभाग, आयुष विभाग, शिक्षा विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग, ग्रामीण विकास विभाग, दिव्यांग कल्याण विभाग सहित आयुष्मान भारत-साचीज द्वारा अपने-अपने स्टॉल लगाकर जन सामान्य को संबंधित योजनाओं एवं कार्यक्रमों की जानकारी एवं सेवाएं प्रदान की गईं।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Previous post दोस्त के शादी में पहुचे युवक ने काटा बवाल, 6 लोग लोग हुए घायल
Next post प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र केकराही मे ब्लाक स्वास्थ्य मेला का आयोजन किया गया।