आरोग्य भारती काशी प्रांत द्वारा होम्योपैथी जनक डॉ “सैमुएल हैनिमैन” के 267 वें जन्मदिवस पर आयोजित हुआ कार्यक्रम।

Advertisement
Advertisement

वाराणसी/संसद वाणी

आरोग्य भारती, काशी प्रांत द्वारा आयोजितआज 10 अप्रैल को होम्योपैथी के जनक डॉ सैमुएल हैनिमैन के 267 वें जन्मदिवस पर “विश्व होम्योपैथिक दिवस का कार्यक्रम द्रव्यगुण विभाग सभागार, आयुर्वेद संकाय,IMS,काशी हिंदू विश्वविद्यालय, वाराणसी में हुआ ।

कार्यक्रम की शुरुआत महात्मा हैनीमैन, भगवान धन्वंतरि और मालवीय जी की प्रतिमा का माल्यार्पण कर हुआ।
कार्यक्रम में आरोग्य भारती काशी प्रांत के सह संगठन मंत्री डॉक्टर मनीष त्रिपाठी ने भारतवर्ष के वर्तमान होम्योपैथिक परिदृश्य पर वृहद् जानकारी दी , डॉक्टर पूजा शुक्ला ने हैनीमैन की जीवनी पर वृहद् प्रकाश डाला
कार्यक्रम में मुख्य वक्ता श्री अभय जी( क्षेत्र प्रमुख धर्म जागरण मंच राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ) ,विशिष्ट अतिथि के रूप में इन व्यक्तियों की उपस्थिति रही -श्री अरविंद कुमार सिंह ( उपमहानिरीक्षक, कारागार) काशी हिंदू विश्वविद्यालय के पत्रकारिता विभाग के प्रोफ़ेसर डॉ ज्ञान प्रकाश मिश्रा ,वरिष्ठ होम्योपैथिक चिकित्सक डॉ दिनेश त्रिपाठी, काशी हिंदू विश्वविद्यालय के आयुर्वेद द्रव्यगुण संकाय के विभागाध्यक्ष “प्रो बी राम, होम्योपैथिक मेडिसिन बोर्ड के सदस्य डॉ ब्रिजेश सिंह, मौजूद रहे। मुख्य वक्ता श्री अभय जी ने सभी चिकित्सा पद्दतियों को प्रकृति और संस्कृति के अनुकूल बनाने के लिए कहा । डॉक्टर ज्ञान प्रकाश जी ने होम्योपैथिक की गुणवत्ता और प्रामाणिकता के बारे में बताया ।डॉक्टर दिनेश त्रिपाठी ने कहा कि होम्योपैथिक दवाएँ अपनी मात्रा से नही बल्कि अपनी गुणवत्ता से कारगर है इसकी सूक्ष्म मात्रा ही इसकी गुणवत्ता है । उपमहानिरीक्षक श्री अरविंद कुमार सिंह ने अपने प्रकृति में पाए जाने वाले वनौषधियों के खेती और उसके उपयोग के बारे में बताया।डॉ ब्रिजेश सिंह ने सरकार द्वारा होम्योपैथी चिकित्सा पद्दती के बढ़ावे पर प्रकाश डाला। प्रोफ़ेसर बी राम ने होम्योपैथी और आयुर्वेदिक दवाओं के मुख्य श्रोत पर ज़ोर दिया और प्रकृति में पाए जाने वाले एलकलोईड की विशेषता बतायी । आरोग्य भारती काशी प्रांत के अध्यक्ष डॉक्टर इंद्रनील बसु ने आरोग्य भारती के उद्देश्यों और आयामों के बारे में बताया । मंच संचालन डॉक्टर मीनाक्षी सिंह ने किया । कार्यक्रम में आरोग्य भारती के कोषाध्यक्ष डॉक्टर विपुल नारायण सिंह , डॉक्टर अभिषेक गुप्ता, डॉक्टर शशिकांत सिंह, रमेश पांडेय जी , मनोज जयसवाल जी एवं १२० अन्य लोगों की उपस्थित रहे | कार्यक्रम के समापन मे सभी विशिष्ठ अतिथियों को आरोग्य भारती की मासिक पत्रिका “आरोग्य सम्पदा” भेंट की गयी ।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Previous post गर्भवती की करें खास देखभाल ताकि जच्चा-बच्चा बनें खुशहाल
Next post 380 छात्रो को मिला स्मार्टफोन, 20 को टेबलेट।