प्रचंड गर्मी से कई राज्यों में ऑरेंज अलर्ट

Advertisement
Advertisement

नई दिल्ली: गुरुग्राम ने 28 अप्रैल 2022 को अपने पिछले रिकॉर्ड को तोड़ते हुए 45.6 डिग्री सेल्सियस का तापमान दर्ज किया, जो साल 1979 के 44.8 डिग्री सेल्सियस के बाद अब तक का उसका उच्चतम तापमान है. दिल्ली ने 12 साल में 43.5 डिग्री सेल्सियस के साथ अप्रैल का सबसे गर्म दिन देखा. राष्ट्रीय राजधानी में 18 अप्रैल, 2010 को अधिकतम तापमान 43.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था.

यूपी (Uttar Pradesh) में प्रचंड गर्मी (Sweltering Heat) ने इलाहाबाद (45.9 डिग्री सेल्सियस) को झुलसा दिया; मध्य प्रदेश में खजुराहो (45.6 डिग्री सेल्सियस), नौगॉन्ग (45.6 डिग्री सेल्सियस), और खरगोन (45.2 डिग्री सेल्सियस); महाराष्ट्र में अकोला (45.4 डिग्री सेल्सियस), ब्रम्हापुरी (45.2 डिग्री सेल्सियस) और जलगांव (45.6 डिग्री सेल्सियस) और झारखंड के डाल्टनगंज (45.8 डिग्री सेल्सियस) में गर्मी ने लोगों की हालत खराब कर दी. हीटवेव के बीच भारत ने एक दिन में सबसे अधिक बिजली की मांग की आपूर्ति की और गुरुवार को 204.65 गीगावॉट के सर्वकालिक उच्च स्तर को छू लिया.

मौसम विशेषज्ञों (Meteorologists) ने इसके पीछे का कारण सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ की कमी को बताया है. हर वर्ष इस समय विशिष्ट रूप से हल्की वर्षा और गरज के साथ बौछारों की उपस्थिति बनी रहती है. लेकिन इस बार यह नहीं देखा गया. उत्तर पश्चिम भारत ने मार्च और अप्रैल में कम से कम चार पश्चिमी विक्षोभ देखे, लेकिन वे इतने मजबूत नहीं थे कि मौसम में महत्वपूर्ण बदलाव ला सकें.

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Previous post वाराणसी कमिश्नरेट पुलिस ने दो करोड़ की ठगी मामले का किया खुलासा।
Next post वाराणसी परिक्षेत्र में डाक अधिकारियों का स्वागत और विदाई समारोह।