काशी में विरोध दर्ज कराने वालों को सद्बुद्धि प्रदान करने के लिए पीठाधीश्वर जगतगुरु शंकराचार्य स्वामी नरेंद्रानंद सरस्वती के नेतृत्व में हवन पूजन किया गया।

Advertisement
Advertisement

वाराणसी/संसद वाणी

काशी विश्वनाथ ज्ञानवापी मुद्दे पर कोर्ट के आदेश के बाद आज 6 मई को अधिवक्ता कमीशन के जरिए श्रृंगार गौरी और दूसरे ग्रहों की वीडियोग्राफी कराई जानी है,जिसको लेकर मस्जिद कमेटी से जुड़े मुस्लिम पक्षकारों ने विरोध दर्ज कराया था। अब इसको लेकर के काशी में विरोध दर्ज कराने वालों को सद्बुद्धि प्रदान करने के लिए सुमेरु पीठ के पीठाधीश्वर जगतगुरु शंकराचार्य स्वामी नरेंद्रानंद सरस्वती के नेतृत्व में हवन पूजन किया गया।

काशी विश्वनाथ ज्ञानवापी मुद्दे पर कोर्ट के आदेश के बाद 6 मई को अधिवक्ता कमीशन के जरिए श्रृंगार गौरी और दूसरे ग्रहों की वीडियोग्राफी कराई जानी है अधिवक्ता कमीशन के इस कार्रवाई के आदेश के बाद मस्जिद कमेटी से जुड़े मुस्लिम पक्षकारों ने इसका विरोध भी किया था, जिसके बाद संत भी इस मुद्दे को लेकर मुखर हो गए और उन्होंने विरोध करने वाले मुस्लिमों पर यह आरोप लगाए कि मुस्लिम पक्ष वीडियोग्राफी को रोककर क्या कुछ इस मामले में छुपाना चाहते हैं? वीडियोग्राफी अधिवक्ता कमीशन के जरिए वीडियोग्राफी की कार्रवाई ठीक ढंग से हो इसके लिए वाराणसी में पूजा अनुष्ठान का दौर अब शुरू हो गया है। अनुष्ठान तब तक जारी रहेगा जब तक अधिवक्ता कमीशन की कार्यवाही पूरी तरीके से सफलता पूर्वक नही हो जाती।साथ ही इसको लेकर विरोध दर्ज कराने वाले लोगों को ईश्वर सदबुद्धि दे इसकी भी प्रार्थना की जा रही है।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Previous post चंदौली और ललितपुर की घटना में पुलिसकर्मी दोषी हैं इसलिए इसकी जांच पुलिसकर्मियों से न कराई जाए-संजय सिंह सांसद
Next post ज्ञानवापी मस्जिद परिसर और शृंगार गौरी के सर्वे और वीडियोग्राफी अदालत से नियुक्त कोर्ट कमिश्नर पहुँच चुके हैं।