कोर्ट के आदेश की खुली अवहेलना कर विपक्षियों ने विवादित भूमि पर जबरन कराया मकान निर्माण का कार्य।

Advertisement
Advertisement
  • पीड़ित नाबालिग हिमांशु एसडीएम सहित दर्जनों जगहों पर लगाया न्याय की गुहार नही हुई सुनवाई
  • बाट-फाट का मुकदमा न्यायालय में विचाराधीन होने के बावजूद आखिर किसको प्रभाव में लेकर विपक्षियों ने बनवा डाली मकान नही हुई कोई कार्यवाही क्षेत्र में बनी चर्चा की विषय, पीड़ित का आरोप थाना में छ घण्टा बैठाये रहे पुलिसकर्मी उधर चल रहा था निर्माण सवालों के घेरों में जिम्मेदारो की कार्यशैली

वाराणसी: एसडीएम पिंडरा के न्यायालय में हिमांशु बनाम सभाजीत वगैरह बाट-फाट से सम्बंधित मुकदमा विचाराधीन होने के बाद विपक्षी सभाजीत सहित अन्य के द्वारा न्यायालय के आदेश का खुला उल्लंघन करते हुए मकान निर्माण करने का मामला प्रकाश में आया है।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक थाना बड़ागाँव क्षेत्र के टिकरी कला निवासी भूमिधर नाबालिग हिमांशु पुत्र स्वर्गीय लक्ष्मी शंकर ने वर्ष 2022 में आराजी नम्बर 12 रकबा 225 हेक्टेयर सह खातेदार जमीन का बटवारा बाट-फाट धारा 116 एसडीएम पिंडरा के न्यायालय में दाखिल किया था जिस पर नियत तिथि 18 मई कार्यवाही के लिए निर्धारित की गई है उसके बावजूद विपक्षी सभाजीत, रामसेवक, प्रेमा देवी ने बगैर मुकदमा निस्तारण लम्बित होने के बाद भी जबरन मकान निर्माण करा लिया।

पीड़ित नाबालिग हिमांशु व परिवार के आशीष कुमार ने एसडीएम से लेकर एसपी देहात,थाना बड़ागाँव तक दर्जनों प्रार्थना पत्र देकर निर्माण रोकने की गुहार लगाया लेकिन कही भी पीड़ित की सुनवाई नही हुई और विपक्षियों का मकान बनकर तैयार हो गया। बाट-फाट का मुकदमा न्यायालय में विचाराधीन होने के बावजूद आखिर किसको प्रभाव में लेकर विपक्षियों ने बनवा डाली मकान नही हुई कोई कार्यवाही क्षेत्र में बनी चर्चा की विषय, पीड़ित नाबालिग हिमांशु व आशीष कुमार का आरोप थाना बड़ागाँव में शनिवार को आयोजित समाधान दिवस के दिन छ: घण्टा थाने में बैठाये रहे, पुलिसकर्मी उधर चल रहा था निर्माण सवालों के घेरों में जिम्मेदारो की कार्यशैली।

वही मकान निर्माण रोकवाने के लिए पीड़ित न्यायालय उपजिलाधिकारी पिंडरा वाराणसी के यहाँ से मुकदमा विचाराधीन से सम्बंधित प्रश्नोत्तरी भी लाकर थाना समाधान दिवस पर दिखाया लेकिन उसके बावजूद भी कोई कार्यवाही नही हुई जिससे पीड़ितों में आक्रोश ब्याप्त है।

वही जिलाधिकारी, एसपी देहात, एसडीएम पिंडरा का ध्यान आकृष्ट कराते हुए तत्काल विपक्षियों पर कार्यवाही की माँग पीड़ित ने किया है और चेतावनी दिया है कि अगर सुनवाई कार्यवाही नही हुई तो मंगलवार को एसडीएम पिंडरा कार्यालय के समक्ष धरना प्रदर्शन को बाध्य होंगे।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Previous post एक राष्ट्र की परिकल्पना जहाँ जाति, धर्म और क्षेत्र से ऊपर उठकर एक मजबूत और स्वाधीन देश का सपना: निर्मल सिंह
Next post मनबढ ने किया बुजुर्ग पर जानलेवा हमला आँख व पैर में आयी गम्भीर चोटे