चन्दौली के चकिया में मगरमच्छ ने मासूम बच्चे को बनाया शिकार, नाराज ग्रामीणों ने किया चक्काजाम

Advertisement
Advertisement

संवाददाता:-रन्धा सिंह

चंदौली/संसद वाणी

चकिया कोतवाली के सिकंदरपुर ग्राम सभा स्थित चंद्रप्रभा नदी के किनारे शुक्रवार को मां के सामने की मगरमच्छ ने 10 साल के मासूम को अपना शिकार बना लिया। बालक को खींचकर गहरे पानी में ले गया। जानकारी होते ही खलबली मच गई। काफी प्रयास के बाद जाल डालकर बालक के शव को बाहर निकाला गया। घटना से गुस्साए ग्रामीणों ने चकिया-पीडीडीयू नगर मार्ग पर चक्काजाम कर दिया। एसडीएम प्रेम प्रकाश मीणा से समझाने पर ग्रामीण माने। एडीएम ने नहर की सफाई और मगरमच्छों को पकड़ने का अभियान कल से ही शुरू कराने का भरोसा दिलाया। पुलिस को शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।क्षेत्र के विजयपुरवा गांव निवासी मुन्ना विश्वकर्मा का पुत्र चंदन विश्वकर्मा (10) अपनी मां के साथ चंद्रप्रभा नदी के किनारे टहल रहा था। इसी दौरान पानी से बाहर निकला मगरमच्छ बालक को खींचकर नदी में ले गया। मां की नजर पड़ी तो वह मदद के लिए चीखने चिल्लाने लगी। इसकी जानकारी होते ही ग्रामीणों में कोहराम मच गया। परिजनों के साथ ही काफी संख्या में ग्रामीण नदी किनारे पहुंच गए। लोगों ने नदी में कूदकर बालक की खोज शुरू कर दी। एनडीआएफ को भी घटना की जानकारी दी गई। काफी प्रयास के बाद बच्चे का शव बरामद हुआ। आए दिन मगरमच्छ ग्रामीणों को अपना शिकार बनाते रहते हैं। इससे नाराज ग्रामीणों ने चकिया-पीडीडीयू नगर मार्ग पर चक्काजाम कर दिया। इससे मार्ग पर आवागमन बाधित हो गय। ग्रामीण मौके पर डीएम को बुलाने की मांग पर अड़ गए। उनका कहना रहा कि आएदिन मगरमच्छ लोगों पर हमले करते हैं। पानी से निकलकर रिहायशी इलाकों में पहुंच जाते हैं। इसके बावजूद इससे निजात दिलाने के लिए कोई ठोस रणनीति नहीं तैयार की जा रही है। अंत में चकिया एसडीएम के समझाने पर ग्रामीणों ने चक्काजाम समाप्त किया।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Previous post देव संस्कृति विश्वविद्यालय हरिद्वार के प्रति कूलपति श्रद्धेय डा0 चिन्मय पाण्ड्या का आगमन कल।
Next post मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के तहद अभ्यर्थियों को मुफ्त कोचिंग के लिए पंद्रह मई तक करने होंगे आनलाइन पंजीकरण, परीक्षा की तिथि निर्धारित