कलेक्ट्रेट सभागार में बाढ़ तैयारियों की समीक्षा बैठक की गई।

Advertisement
Advertisement

आजमगढ़/संसद वाणी सवाददाता

जिलाधिकारी श्री विशाल भारद्वाज की अध्यक्षता में आज कलेक्ट्रेट सभागार में बाढ़ तैयारियों की समीक्षा बैठक की गई।जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि सभी लोग 20 मई तक बाढ़ से निपटने की तैयारियों को प्रत्येक दशा में पूर्ण कर लिया जाए।
जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिया कि बाढ़ से प्रभावित सभी सामुदायिक व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों का भ्रमण कर सभी आवश्यक दवाओं/टीका की उपलब्धता सुनिश्चित करा लें। उन्होंने कहा कि बाढ़ आने से पहले बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों की आंगनवाड़ी एवं आशा बहुओं को आवश्यक दवाएं उपलब्ध करा दें। उन्होंने कहा कि सभी प्राथमिक एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर चिकित्सक एवं अन्य स्टाफ की पर्याप्त संख्या में तैनाती सुनिश्चित की जाए।जिलाधिकारी ने मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिया कि बाढ़ आने पर प्रभावित क्षेत्र के पशुओं के लिए चारा, भूसा एवं दवाओं की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित कराएंl उन्होंने कहा कि पशुओं का वैक्सीनेशन/टीकाकरण पहले ही शुरू कर दिया जाए। उन्होंने कहा कि भूसा आदि के लिए टेंडर प्रक्रिया तत्काल सुनिश्चित कराएं।
जिलाधिकारी ने जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देश दिया कि बाढ़ के दौरान बच्चों एवं महिलाओं के शौचालय की व्यवस्था एवं ग्राम प्रधान के माध्यम से क्लोरीन का टेबलेट समय से वितरण कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि बाढ़ से प्रभावित क्षेत्रों में सफाई का विशेष ध्यान रखा जाए। उन्होंने कहा कि बाढ़ से प्रभावित क्षेत्रों के संपर्क मार्गो पर स्ट्रीट लाइट, सोलर लाइट को लगवाना सुनिश्चित करें तथा पंचायत भवन का भी निर्माण कार्य पूरा करा लिया जाए। जिलाधिकारी ने लघु सिंचाई विभाग को निर्देश दिया कि सिल्ट सफाई कार्य को प्रत्येक दशा में 20 मई तक पूर्ण कराना सुनिश्चित करें l उन्होंने कहा कि सिल्ट सफाई से संबंधित टेंडर को 1 सप्ताह में पूर्ण कराना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने पीडब्ल्यूडी को निर्देश दिया कि संवेदनशील क्षेत्रों को जोड़ने वाले प्रमुख रास्तों की मरम्मत एवं शुद्धिकरण कार्य को प्राथमिकता से कराना सुनिश्चित करेंl उन्होंने कहा कि सड़कों के किनारों को भी मरम्मत कर मजबूत बना दिया जाए।
जिलाधिकारी ने ईओ नगर पालिका आजमगढ़ को निर्देश दिया कि आगामी बारिश में जलजमाव की स्थिति न उत्पन्न हो, उसकी तैयारी अभी से सुनिश्चित करेंl उन्होंने कहा कि नालों की सफाई आदि कार्यो को प्राथमिकता से कराना सुनिश्चित करेंl उन्होंने कहा कि पंप हाउसों के लिए बिजली/जनरेटर की व्यवस्था पहले से सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि पानी निकालने के लिए आवश्यकतानुसार मोटर पंप की व्यवस्था समय से कर लिया जाए।
जिलाधिकारी ने खाद एवं रसद विभाग को निर्देश दिया कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्र की जनता को राशन वितरण समय से कराना सुनिश्चित करें l उन्होंने कहा कि 0 से 1 वर्ष के बच्चों को पोषाहार, दूध एवं दलिया का भी वितरण कराना सुनिश्चित करें।
जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियंता को निर्देश दिया कि बाढ़ क्षेत्र के सभी चैनलों की मरम्मत कार्य को तत्काल पूर्ण कर लिया जाए। उन्होंने कहा कि पानी घटने और बढ़ने की जानकारी क्षेत्रीय लोगों को उपलब्ध कराते रहेंl उन्होंने कहा कि नदी की कटान को रोकने के लिए सभी आवश्यक व्यवस्थाओं को अभी से सुनिश्चित कर लिया जाए। उन्होंने कहा कि बारिश में पानी कहां से कब छोड़ा जाएगा, इससे निपटने की तैयारी पूर्ण करा लें। जिलाधिकारी ने कहा कि सिंचाई एवं पीडब्ल्यूडी की बाढ़ से संबंधित जो परियोजनाएं शासन को स्वीकृत के लिए गई है, उसके लिए हमारी तरफ से डीओ लेटर भिजवाना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने कहा कि गांव में कोविड-19 के लिए गठित निगरानी समिति, युवक मंगल दलों के मोबाइल नंबर तहसील पर उपलब्ध होना चाहिएl उन्होंने कहा कि अच्छे तैराको के नाम और मोबाइल नंबर तथा किराए के नाव आदि की व्यवस्था निर्धारित समय से पहले कर लिया जाए। उन्होंने पुलिस विभाग को निर्देश दिया कि बाढ़ के समय पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था एवं सभी चौकियों पर वायरलेस सेट की उपलब्धता सुनिश्चित कराएं l उन्होंने कहा कि बाढ़ से पहले ही बाढ़ क्षेत्र के सभी थानों एवं चौकियों पर पर्याप्त पुलिस फोर्स एवं अन्य सभी आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करा ली जाए। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी आनंद कुमार शुक्ला, अपर जिलाधिकारी प्रशासन अनिल कुमार मिश्र, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व आजाद भगत सिंह, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट/एडीएम सगड़ी गौरव कुमार तथा अन्य सभी विभागों के अधिकारीगण उपस्थित रहे l

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Previous post उत्तर भारतीय मोर्चा महाराष्ट्र प्रदेश के उपाध्यक्ष बने चिराग गुप्ता
Next post पीएसी कैंप पटखौली बलरामपुर मे प्रस्तावित सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट का आकस्मिक निरीक्षण किया